Difference Between System Software and Application Software in Hindi


System software vs Application software
System software vs Application software

 


Introduction

आज के इस आर्टिकल में हम system software और application software के बीच के अंतर को जानेगे। पहले के आर्टिकल में हमने सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के बारे में पढ़ा था लेकिन आज हम इन दोनों के difference को पढ़ेंगे।


What is System Software?

System Software एक प्रोग्राम होते है जो कि system को चलाने और उसे काम करने के योग्य बनाने में मदद करता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर ही hardware चलने का काम करता है। system सॉफ्टवेयर के बिना hardware किसी काम का नहीं।

System software आपके कंप्यूटर को Hardware और Application software को Run कराने में मदद करता है और यह आपके पुरे कंप्यूटर को manage भी करता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर एक system और user के बीच एक interface का काम करता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के कुछ उदाहरण दिए गए है – Operating system, BIOS, Device Drivers, Compiler, Translator, Interpreter आदि।

अगर आप सिस्टम सॉफ्टवेयर के बारे में पूरा पढ़ना चाहते है तो यह क्लिक करे


What is an Application Software?

Application Software एक ऐसा program होता है जो कि किसी specific काम को करने के लिए बनाए जाते है। एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की मदद से हम सिर्फ एक ही specific task को perform कर सकते है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर अलग – अलग काम को करने के लिए बनाये जाते है। यह सॉफ्टवेयर programming language की मदद से बनाये जाते है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के कुछ उदाहरण दिए गए है –

  • वीडियो और ऑडियो को प्ले करने के लिए वल्स प्लेयर होता है।
  • इमेज को देखने के लिए विंडोज फोटो व्यूअर।
  • डॉक्यूमेंट बनाने लिए मस वर्ड।
  • इमेज को एडिट करने के लिए फोटोशॉप सॉफ्टवेयर होता है।
  • एकाउंटिंग काम करने के लिए टैली सॉफ्टवेयर मौजूद है।

इसी तरह अलग – अलग specific task को करने के लिए अलग – अलग software बने होते है।

अगर आप application सॉफ्टवेयर के बारे में पूरा पढ़ना चाहते है तो यह क्लिक करे


Difference Between System Software and Application Software


S.No.System SoftwareApplication Software
1.सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर हार्डवेयर को manage करता है और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को चलाने में मदद करता है।एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर एक specific काम को करने के लिए होता है जो कि सिस्टम सॉफ्टवेयर के ऊपर चलता है।
2.सिस्टम सॉफ्टवेयर को बहुत सारे काम करने के लिए बनाया जाता है।एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को सिर्फ एक विशेष काम को करने के लिए बनाया जाता है।
3.सिस्टम सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए low level या middle level language का इस्तेमाल किया जाता है।एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए high level language का इस्तेमाल किया जाता है।
4.इन तरह के सॉफ्टवेयर को C language की मदद से बना सकते है।इस तरह के सॉफ्टवेयर को हम java, python, जैसी लैंग्वेजेज की मदद से बना सकते है।
5.
कंप्यूटर के चलते ही सिस्टम सॉफ्टवेयर चलने लग जाता है और कंप्यूटर के बंद होने पर सिस्टम सॉफ्टवेयर भी बंद हो जाता है।एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर सिस्टम सॉफ्टवेयर के चलने के बाद चलते है।
6.एक कंप्यूटर सिस्टम सॉफ्टवेयर के बिना नहीं चल सकता है।एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर एक बिना भी कंप्यूटर चल सकता है।
7.सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदाहरण – ऑपरेटिंग सिस्टम, डिवाइस ड्राइवर, कम्पाइलर, इंटरप्रेटर, ट्रांसलेटर आदि।एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण – ms word, VLC player, गूगल क्रोम, फायर फॉक्स, टैली, adobe reader आदि।
System Software Vs Application Software


Thanks For Reading My Article



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ