What are the Advantages and Disadvantages of Cloud Computing in Hindi?


Cloud Computing
Cloud Computing



आज के इस आर्टिकल में हम पढ़ेंगे कि Cloud Computing के क्या - क्या फायदे और नुक्सान होते है? इससे पहले के आर्टिकल्स में हमने Cloud Computing और इसके उदाहरण और साथ ही हमने इसके प्रकार (Types) के बारे में भी पढ़ा था। 

अगर Cloud computing के फायदे (advantages) की बात करे तो इसके बहुत सारे फायदे होते है। आज के समय हर कोई internet का इस्तेमाल कर रहा है, चाहे वो एक बिज़नेस या कंपनी या फिर कोई आम इंसान। क्लाउड कंप्यूटिंग भी internet की वजह से ही मौजूद है क्योकि इंटरनेट की मदद से ही सारी services दी जाती है। 



What is Cloud Computing in Hindi?

Cloud Computing इंटरनेट की मदद से दी जाने वाले services होती है, इनका इस्तेमाल एक user या company करती है। Cloud Computing की मदद से आप बड़ी ही आसानी से अपने data को एक remote server में store कर सकते है जिससे आप किसी भी device से अपने data को access कर सकते हो। इससे आपका डाटा safe भी रहेगा, क्योकि वो data एक powerful computer और backup के साथ stored रहता है। Cloud Computing की मदद से आप बड़े - बड़े softwares का भी इस्तेमाल कर सकते है, इसके लिए आपको कोई powerful computer लेने की जरुरत नहीं आपको सिर्फ fast internet connection की जरुरत पड़ेगी और फिर अपने ही कम specifications वाले laptop या computer में high specifications software का इस्तेमाल कर सकेंगे क्योकि इसमें सारी computing power एक cloud computing provider की होगी। 




Also Read -:







Advantages of Cloud Computing

Cloud Computing के काफी सारे फायदे है जिसमे से कुछ ख़ास फायदे नीचे दिए गए है -


1. Cloud Computing का इस्तेमाल करने पर आपकी cost काफी बच जाती है, क्योंकि इसमें आपको किसी भी तरह का महंगा system या किसी भी तरह का infrastructure पर पैसा लगाने की जरुरत नहीं पड़ती है। यह सारी चीज़े एक cloud computing provider के द्वारा ही दी जाती है वो भी काफी कम cost पर, जिससे हमारी costing कम हो जाती है। 



2. Cloud services को access करना काफी easy होता है। एक user बड़ी ही आसानी से एक computer और fast internet की मदद से cloud services का फायदा ले सकता है। 



3. कुछ Cloud Services की मदद से आप अपने data को cloud server में free में store करके रख सकते है। इसमें आपको कुछ GB तक की Free storage दी जाती है जिसे आपका data safe रहता है और आप इस data को कही से भी और किसी भी device से access कर सकते है। 


4. Cloud computing में automatic data backup की भी सुविधा होती है। जिससे आपका डाटा काफी सेफ और सिक्योर रहता है जिससे आपको अपने डाटा के खो जाने का खतरा नहीं रहता है। 


5. अगर आप अपने local computer के storage को बढ़ाना चाहे तो ये आसान नहीं होगा लेकिन cloud के इस्तेमाल से आप जितनी चाहे उतनी storage capacity को बड़ा या घटा सकते है। 


6. Cloud की processing power को भी आप अपनी मर्ज़ी के हिसाब से बड़ा सकते है। 


7. अगर आप अपने local computer में ही  या प्रोसेसिंग पावर को बढ़ाना चाहे तो इसमें कॉस्टिंग काफी ज्यादा आएगी लेकिन क्लाउड के इस्तेमाल से इसकी कॉस्टिंग काफी कम रहती है। क्लाउड की स्टोरेज और प्रोसेसिंग पावर को आप काफी कम कॉस्ट पर खरीद सकते है। 




Disadvantages of Cloud Computing

Cloud Computing के फायदे तो हमने देख लिए लेकिन अब इसके कुछ नुक्सान के बारे में भी देख लेते है जो नीचे दिए गए है -


1. Cloud Computing का इस्तेमाल करने के लिए हमें internet पर depend रहना पड़ता है जिसकी वजह से अगर cloud service provider का internet connection बंद या slow होने पर businesses का काफी नुक्सान भी हो जाता है।


2. अगर आपका data काफी important और private है तो उस data को एक cloud service provider पर भरोसा नहीं किया जा सकता। इसके लिए एक reliable cloud service provider का चुनना बहुत जरुरी है।  


3. Clooud Computing का infrastructure काफी अलग होता है और यह service provider के द्वारा ही manage किया जाता है और इसका control एक user के पास काफी limited होता है। 


4. Cloud services का इस्तेमाल हम internet की मदद से ही कर पाते है और internet पर cyber attac या hack होने का खतरा हमेशा ही बना रहता है, जिसकी वजह से क्लाउड computing में security और hack होने का डर रहता है। 



Thanks For Reading My Article




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ